जिलाधिकारी के नेतृत्व में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर मुख्यमंत्री के प्रथम एवं अन्य विभागीय कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा सम्पन्न

संवाददाता आशीष यादव

संवाददाता/मीरजापुर:  मीरजापुर जिलाधिकारी सुुशील कुमार पटेल ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर मुख्यमंत्री जी के प्रथम कार्यक्रम एवं अन्य विभागीय कार्यक्रमों के मासिक समीक्षा की। इस दौरान सबसे पहले विभिन्न विभागों के बकाया बिजली बिल के समीक्षा के दौरान बेसिक शिक्षा विभाग के 824 लाख जल निगम के लगभग 10 करोड़ तथा लोक निर्माण विभाग 06 करोड़ बकाए पर जिलाधिकारी ने कहा कि विभागीय अधिकारी बिजली विभाग से संपर्क स्थापित कर तत्काल बिजली का बिल जमा कराना सुनिश्चित करें,उन्होंने कहा कि यदि किसी विभाग के बजट न हो तो अपने मुख्यालय से पत्राचार कर बजट की मांग कर ली जाए। समीक्षा बैठक में आई0टी0आई0 प्राचार्य अनुपस्थित रहने पर स्पष्टीकरण की मांग की गई मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह ने बताया कि प्राचार्य आई0टी0आई0 विगत बैठक शासन द्वारा वीडियो कांफ्रेसनिंग में भी अनुपस्थित रहे जिसके कारण शासन की प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों की समीक्षा नहीं हो पा रही है। जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि 3 दिवस के अंदर संतोषजनक जवाब न दे पाने पर कार्यवाही की जाएगी बैठक में जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों व निर्माण कार्यदायी विभागों से कहा कि वित्तीय वर्ष समाप्त होने में समय कम है अतएव सभी अधिकारी अपने अपने विकास कार्यों में तेजी लाएं उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्य में तेजी लाई जाए तथा यदि कहि जमीन की विवाद हो तो उसे संबंधित उप जिलाधिकारी के संज्ञान ने लेकर तत्काल निराकरण कराया जाये तथा कार्य प्रारंभ किया जाए। उन्होंने निर्माण कार्यो में वित्तीय प्रगति लाने का निर्देश दिया। बैठक में जिलाधिकारी ने सड़कों के मरम्मत कार्य ,निर्माण एवं सुद्धिकरंण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया उन्होंने कहा कि कुछ सड़कों की स्थिति अच्छी नहीं है लोक निर्माण विभाग ऐसे सड़को का निरीक्षण कर तत्काल पैचिंग कार्य सुनिश्चित कराये। एन0एच0आई0 के द्वारा कराए जा रहे कार्यो पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि बीच-बीच में जो भी कार्य अवशेष रह गए हैं उन्हें भी प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जाए। इस दौरान सेतु निर्माण पर भी चर्चा की गई। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि पर चर्चा की गई जिस पर जिलाधिकारी द्वारा उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया गया कि पुनः सत्यापन कराए जो भी गलत ढंग से किसान सम्मान निधि से पैसा प्राप्त किए हैं उनसे वसूली तथा संबंधित दोषी व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही भी की जाए। निराश्रित गोवंश आश्रय स्थलों के बारे में जिलाधिकारी ने कहा कि जिस स्थाई गोवंश आश्रय पर बाउंड्री बाल नहीं है वहां पर तार से बैरिकेडिंग करा दी जाए तथा गौवंश आश्रय स्थलों में रह रहे पशुओं की शत-प्रतिशत इयर टैगिंग करा ली जाए। नगर पालिकाओ को अपने-अपने क्षेत्रों में रैन बसेरा बनवाने का भी निर्देश दिया गया। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान सही रिपोर्ट उपलब्ध कराने तथा प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा सही जानकारी न दे पाने जिला अधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि आगे से बैठकों में पूरी जानकारी उपलब्ध सही के साथ आए। इस दौरान टीकाकरण की क्रम प्रगति पर बढ़ाने का निर्देश दिया गया मानक के अनुसार दवाओ की उपलब्ध सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया गया। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य कैंप लगाकर करने का निर्देश दिया गया। गत माह के सापेक्ष इस माह कोई अपेक्षित प्रगति ना आने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रगति लाने का निर्देश दिया गया। गोल्डन कार्ड से उपचारित लाभार्थी की प्रगति संतोषजनक पाया गया। 102 एवं 108 एंबुलेंस एवं संस्थागत प्रसव की प्रगति संतोषजनक रही परंतु संस्थागत प्रसव के सापेक्ष लाभार्थियों का भुगतान 92% ही पाई गई जिस पर शत-प्रतिशत भुगतान के निर्देश दिए गए। ऑपरेशन कायाकल्प योजना के गत माह 68% की प्रगति थी जिसके सापेक्ष इस माह मात्र 1% बढ़ाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए अभियान चलाकर प्रगति बढ़ाने तथा जियो टैगिंग 7% करने का निर्देश दिया बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी को दिया गया। बैठक में हैंडपंपों की रिबोर व मरम्मत ओडीएफ प्रधानमंत्री आवास शहरी एवं ग्रामीण एनआरएलएम,मनरेगा,मत्स्य पालन, उद्यान समाज कल्याण के द्वारा संचालित विभिन्न पेंशन, छात्रवृत्ति आदि की बिंदुवार समीक्षा की गई। जिला पूर्ति अधिकारी को एनआर0एल0एम0 समूह की महिलाओं को राशन की दुकान आवंटन का लक्ष्य दीपावली के पूर्व करने का निर्देश दिया गया। समीक्षा बैठक में अमृत योजना के अंतर्गत पार्को के सुंदरीकरण,शिवर प्लांट निर्माण कन्या सुमंगला योजना, आंगनवाड़ी केंद्रों का निर्माण मुख्यमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, खादी ग्राम उद्योग आदि विभागों की विंदुवार समीक्षा की गई तथा समय से गुणवत्ता पूर्ण ढंग से प्रगति लाने का निर्देश दिया गया।।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह, जिला विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण मिश्र, परियोजना निदेशक ऋषि मुनि उपाध्याय, सूचना अधिकारी ओम प्रकाश उपाध्याय , जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी कैलाश नाथ, शशीकांत श्रीवास्तव जिला पूर्ति अधिकारी उमेश कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी पी के सिंह, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण कन्हैया विद्द्यत, ए0 के0 सिंह, जल निगम पंकज कुमार के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *