PM मोदी ने समाजवादी पार्टी पर साधा निशाना, बोले- पहले वादों के नाम पर होता था धोखा, कपड़े सुखाने के काम आते थे बिजली के तार

रमाकांत वर्मा
ब्यूरो रिपोर्ट

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जन चौपाल के माध्यम से रामपुर, बदायूं और सम्भल में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूपी परखता सबको है, लेकिन विश्वास उसी को देता है, जो उम्मीदों पर खरा उतरता है। योगी सरकार से पहले अनेक साल विकल्पों की तलाश में रहे। लेकिन अब यूपी को स्थायित्व का, निरंतरता का विश्वास मिल चुका है। यूपी के लोगों ने देखा है कि जिनको पहले मौका दिया, उन्होंने कैसे विश्वासघात किया। किसी ने जातिवाद और भ्रष्टाचार को फैलाया, तो किसी ने परिवारवाद, माफियावाद, गुंडाराज और दंगा राज यूपी को दिया। उन्होंने कहा कि आज यूपी भाजपा ने उत्तर प्रदेश की आकांक्षा को साकार करने के लिए अगले पांच वर्ष का संकल्प पत्र जारी किया है। गरीब, किसान, युवा को सशक्त करने वाले इस संकल्प पत्र के लिए मैं उत्तर प्रदेश भाजपा को और योगी जी को बधाई देता हूं। ये नए संकल्प बीते पांच सालों की स्थितियों से प्रेरित है। इसमें बीते पांच सालों की निरंतरता भी है। ये संकल्प पत्र यूपी को एक बड़ी कृषि अर्थव्यवस्था का रोड मैप है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूपी ने 2017 से पहले के अनेक साल भी देखे हैं जब वादों के नाम पर सिर्फ धोखा होता था। आज बिजली की बात करने वाले जब सत्ता में थे, तब बिजली के तार कपड़े सुखाने के काम आते थे। उन्होंने कहा कि कृषि सिंचाई में जो उपलब्धियां 5 साल में हासिल की, मुख्यमंत्री सिंचाई योजना उसको विस्तार देगी। सरदार वल्लभभाई पटेल एग्री इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन यूपी में छटाई और ग्रेडिंग यूनिट, कोल्ड चैन चेम्बर्स, गौदाम और प्रोसेसिंग सेंटर के इंफ्रास्ट्रक्चर को आधुनिक बनाएगा। उन्होंने कहा कि भामाशाह भाव स्थिरता कोष आलू, टमाटर, प्याज उगाने वाले किसानों, विशेष रूप से पश्चिम यूपी के किसानों को बेहतर दाम देने में मदद करेगा। नई चीनी मिलों के निर्माण, पुरानी मिलों के आधुनिकीकरण के लिए हजारों करोड़ रुपये का मिशन गन्ना किसानों की समृद्धि सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले की तुलना में, अब यूपी में इथेनॉल उत्पादन काफी ज्यादा हो रहा है। इस दौरान लगभग 12 हजार करोड़ रुपये का इथेनॉल गन्ना किसानों से खरीदा गया है। आज यूपी के कोने-कोने में बायोफ्यूल बनाने वाली फैक्ट्रियां लगाई जा रही हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा ट्रैक रिकॉर्ड कचरे से कंचन बनाने का है। उनका ट्रैक रिकॉर्ड कंचन को भी कचरा बनाने का है। यही प्राथमिकताओं का फर्क है। यही 2017 से पहले और आज का फर्क है। उन्होंने कहा कि मैं सभी मतदाताओं से कहूंगा कि वोट डालने से पहले इनकी करतूतों को कभी भी मत भूलना। इनको गलती से भी मौका मिल गया तो, फिर खेत लहुलुहान होंगे, फिर दुकानें जलेंगी, फिर डर और खौफ का वो काल लौटेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.