चन्नी होंगे पंजाब में कांग्रेस के मुख्यमंत्री उम्मीदवार, राहुल गांधी ने किया ऐलान

चंडीगढ़। पंजाब में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चेहरे से पर्दा उठा दिया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री का निर्णय लेना पंजाब का निर्णय है और यह मेरा निर्णय नहीं है और मैंने निर्णय नहीं लिया बल्कि पंजाब के लोगों से, यहां के उम्मीदवारों से, वर्किंग कमेटी के लोगों से पूछा। उन्होंने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि जाखड़ जी ने अपने भाषण में कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता हीरे हैं और उन्होंने बहुत गहरी बात की है। मैं साल 2004 से राजनीति में हूं, राजनीति के बारे में थोड़ी सी समझ और तजुर्बा मेरे में है। राजनीतिक नेता 10-15 दिन में पैदा नहीं होता है। एक सच्चा नेता मीडिया के टेलीविजन पर, डिबेट में नहीं तैयार होता है बल्कि सालों लड़कर, संघर्ष करके, पिटकर बनता है और कांग्रेस के पास हीरो की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि राजनीति एक रास्ता होता है इवेंट नहीं कि एक फोटो ले ली, दो शब्द बोल दिए और बन गए राजनेता। राजनेता को लड़ाई लड़नी पड़ती है और बहुत सारे राजनेता को अपनी लड़ाई लड़नी पड़ती है। इसी बीच उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी जबरदस्त लड़ाई लड़ते हैं लेकिन अपनी लड़ाई लड़ते हैं और दूसरे नेता होते हैं जो मुद्दों के लिए खड़े हो जाते हैं। नेता अलग-अलग जगह से आते हैं। सिद्धू कहीं से आए, चन्नी कहीं और से आए लेकिन सबको कठिन रास्ते पर चलना पड़ता है। कांग्रेस नेता ने कहा कि बहुत सारे हीरो के बीच में से एक हीरा निकालना आसान काम नहीं है। सिद्धू से मैं पहली बार 40 साल पहले मिला था, यह बात सिद्धू को नहीं पता है। उन्होंने कहा कि मैं डूम स्कूल में था, रविवार सुबह 8 बजे क्रिकेट का मुकाबला था, यह आदमी स्कूल में क्रिकेट खेलने आया था और मैं फील्ड के बाहर बैठा हुआ था। सिद्धू ओपनिंग बॉलर थे। उस वक्त किसी ने मुझे बताया था कि यह नवजोत सिंह सिद्धू हैं, जो तेंज गेंदबाज हैं। 6 विकेट 130 रन में पूरी स्कूल को आउट कर दिया और फिर 98 रन बनाकर चले गए। उस डूम स्कूल की टीम को पता नहीं चला क्या हुआ ? उन्होंने कहा कि सिद्धू क्रिकेट खेले, फिर कामंटेटर बने, कॉमेडियन बने और फिर राजनेता बने। हर राजनेता के पास स्ट्रेंथ और वीकनेस होती है। ऐसे में अगर इमोशनल हो जाते हैं तो क्या ? ऐसे ही हमारे पास दूसरे हीरो भी हैं जाखड़ जी। इनसे आप पंजाब से जुड़े हुए कोई भी सवाल पूछ सकते हैं, यह बंद कमरे में गहरी बात करते हैं। पंजाब के डीएन, यहां की हिस्ट्री को समझते हैं। एक के बाद एक राहुल गांधी ने मंच में बैठे तमाम नेताओं की प्रशंसा की।

राहुल गांधी ने कहा कि चन्नी गरीब घर के बेटे हैं और उसे गहराई से समझते हैं। उन्होंने कहा कि चन्नी के दिल में, खून में पंजाब है। सिद्धू के दिल में और खून में पंजाब है, आप काटकर देखियेगा खून निकलेगा और उसमें पंजाब दिखाई देगा। चन्नी मुख्यमंत्री बने लेकिन उनमें अहंकार नहीं दिखाई दिया, जबकि मुख्यमंत्री पद प्रदेश का सबसे बड़ा पद है। वो जनता के बीच में जाते हैं। उन्होंने कहा कि कभी आप लोगों ने देखा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जनता के बीच में जाते हुए। प्रधानमंत्री को सड़क में किसी की मदद करते हुए देखा है, वो नहीं करेंगे वो प्रधानमंत्री नहीं राजा हैं। लेकिन यह मुख्यमंत्री हैं और यह यहां पर मुख्यमंत्री बनने के लिए नहीं आए हैं बल्कि पंजाब को बदलने आए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के लोग कभी-कभी ज्यादा भी बोल देते हैं तो हम एक्सेप्ट कर लेते हैं, क्योंकि हम सब लोगों की आवाज सुनना चाहते हैं। हम एक व्यक्ति का राज नहीं चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.