सिद्धू ने फिर दिखाए तेवर, कहा- CM फेस से तय होगा 60 उम्मीदवार MLA बन पाते हैं या नहीं

सिद्धू ने फिर दिखाए तेवर, कहा- CM फेस से तय होगा 60 उम्मीदवार MLA बन पाते हैं या नहीं

पंजाब में विधानसभा के चुनाव होने हैं। 20 फरवरी को पंजाब में मतदान भी होगा। हालांकि पंजाब में कांग्रेस के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। फिलहाल मुख्यमंत्री पद को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू लगातार अपने तेवर दिखा रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू लगातार आलाकमान के समक्ष मुख्यमंत्री फेस के लिए अपना दावा मजबूत भी कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक 6 फरवरी को राहुल गांधी पंजाब दौरे पर रहेंगे जहां मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा की जाएगी। लेकिन इससे पहले सिद्धू ने अपने तेवर दिखा दिए हैं। सिद्धू ने कहा कि मुख्यमंत्री पद का चेहरा तय करेगा कि 60 उम्मीदवार विधायक चुने जाते हैं या फिर नहीं। हालांकि अपने बयान में सिद्धू ने किसी पार्टी का नाम नहीं लिया। आपको बता दें कि पंजाब में 117 विधानसभा की सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 59 सीट जरूरी होती है। सिद्धू अमृतसर पूर्व सीट से चुनाव भी लड़ रहे है। उन्होंने कहा कि वह कभी भी सत्ता के उपासक नहीं रहे। सिद्धू ने कहा कि लेकिन आज पंजाब को एक बड़ी बात तय करनी है। 60 विधायक होने पर एक व्यक्ति मुख्यमंत्री बन जाएगा। कोई 60 विधायकों की बात नहीं कर रहा है। सरकार किस रोडमैप पर बनेगी, इस बारे में कोई बात नहीं करता। इसके साथ ही सिद्धू ने दोहराया कि उनका मॉडल राज्य को आगे बढ़ा सकता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह सिद्धू का मॉडल नहीं बल्कि राज्य का मॉडल है और अगर किसी के पास इससे बेहतर मॉडल है तो वह उसे भी स्वीकार करेंगे। उन्होंने कहा कि 60 विधायक वही व्यक्ति बना पाएगा, जिसके पास रोडमैप होगा और जिसे लोगों का भरोसा हासिल है। सच तो यह है कि चेहरा ही तय करेगा कि 60 (उम्मीदवार) विधायक बन पाते हैं या नहीं। वर्ष 2017 के चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) छोड़ने के बाद कांग्रेस में शामिल होने का उल्लेख करते हुए सिद्धू ने कहा कि उन्होंने किसी भी पद के लिए दूसरी पार्टी में शामिल होने के वास्ते पार्टी नहीं छोड़ी और वास्तव में, उन्होंने अपनी राज्यसभा सदस्यता छोड़ दी थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं (कांग्रेस में) इसलिए आया क्योंकि मुझे पंजाब की चिंता है।’’ सिद्धू ने कहा कि उनकी लड़ाई हमेशा उन लोगों के खिलाफ रही है जिन्होंने पंजाब को लूटा है। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मेरी लड़ाई उन लोगों के खिलाफ है जो बेईमान हैं। जब शीर्ष पर कोई ईमानदार होता है, तो ईमानदारी नीचे तक फैल जाती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने आज तक किसी से कोई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं की है। मैंने हमेशा पंजाब के लिए लड़ाई लड़ी है।’’ सिद्धू ने कहा कि वह कभी भी राजनीति, नीति और बजटीय आवंटन के मुद्दों से अलग नहीं हुए। उन्होंने कहा, ‘‘क्या सिद्धू ने व्यापार, खदान या शराब के लिए अपनी दुकान खोली है?’’ उन्होंने कहा कि वह एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जिनकी कमाई में तेजी से गिरावट आई है। उन्होंने यह बात स्पष्ट रूप से टीवी शो और क्रिकेट कमेंट्री से कमाई के संदर्भ में कही। सिद्धू ने कहा, “मैं अकेला व्यक्ति होऊंगा जिसकी आय में करोड़ों रुपये की गिरावट आई है। लेकिन मुझे संतोष है कि आय कुछ भी नहीं है।” उन्होंने कहा कि लोग उन्हें याद करते हैं जो बेहतरी के लिए समाज को बदल सकते हैं। उन्होंने कहा, मेरा पंजाब मॉडल बच्चों, युवाओं और राज्य के लोगों के जीवन को बदलने के लिए है। यह मॉडल उन लोगों पर लगाम लगाएगा जो राज्य को लूट रहे हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.