चुनाव जाति या धर्म के नहीं बल्कि विकास के मुद्दों पर लड़ा जाना चाहिए : प्रियंका

बुलंदशहर (उप्र)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने बृहस्पतिवार को आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए स्थानीय लोगों से समर्थन मांगते हुए कहा कि चुनाव जाति या धर्म के नहीं, बल्कि विकास के मुद्दों पर लड़ा जाना चाहिए। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के सिकंदराबाद, अनूपशहर और स्याना विधानसभा क्षेत्रों में घर-घर प्रचार अभियान में, कांग्रेस महासचिव का जोरदार जयकारों और नारों के साथ स्वागत किया गया। उन्होंने पार्टी नेताओं और प्रत्याशियों के साथ सड़कों पर घूम कर जनसंर्पक किया। सिकंदराबाद में, कांग्रेस महासचिव का अभिनंदन युवतियों व छात्राओं ने लड़की हूं, लड़ सकती हूं के नारे के साथ किया। उन पर छतों से फूलों की पंखुड़ियों की वर्षा की गई , कई स्थानों पर महिलायें और लड़कियां उनके साथ तस्वीरें क्लिक करते देखी गयी। उन्होंने स्थानीय लोगों को पार्टी का घोषणापत्र सौंपा, खासकर महिलाओं से इसे पढ़ने का आग्रह किया। उन्होंने स्थानीय लोगों से भी बातचीत की और उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली। कांग्रेस महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर फोकस के साथ विधानसभा चुनाव लड़ रही है। राज्य में पार्टी को पुनर्जीवित करने के अभियान का नेतृत्व कर रही कांग्रेस नेता ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा, चुनाव जाति या धर्म के नहीं, विकास के मुद्दे पर लड़ा जाना चाहिए, यहां के लोग भी यही बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा, लोग (भाजपा से) उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों, रोजगार या शिक्षा या स्वास्थ्य की व्यवस्था के बारे में जानना चाहते हैं। ये चुनाव के मुद्दे होने चाहिए। जनसंर्पक अभियान के दौरान पार्टी के स्थानीय नेता और कांग्रेस उम्मीदवार वाद्रा के साथ थे। जिले में वाद्रा का करीब चार घंटे तक घर-घर जाकर प्रचार अभियान चला। वाद्रा ने कहा “भाजपा और समाजवादी पार्टी चुनाव में लोगों के वास्तविक मुद्दों के बारे में बात नहीं कर रहे हैं, वे केवल बयान देने में व्यस्त हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस लोगों के वास्तविक मुद्दों के बारे में बात करती है। इसलिए हमें आम जनता का समर्थन मिलेगा। ” लखनऊ में कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने बताया कि वाद्रा ने बाद में बुलंदशहर में एक कथित बलात्कार पीड़िता के परिवार से मुलाकात की और न्याय के लिए उनकी लड़ाई में हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.